alarm
Ask a question
Hindi
Gar

निम्नलिखित पंक्तियों की सप्रसंग व्याख्या कीजिए तम नायनो की ताराए सब ​

answers: 1
Register to add an answer
Answer:

Answer:

यह शाम – एक किसान कविता से ली गई पंक्तियाँ है| यह कविता सर्वेश्वरदयाल सक्सेना द्वारा लिखी गई है|

व्याख्या : प्रस्तुत पंक्तियों में कवि ने विभिन्न रूपकों का पके द्वारा प्रकृति के द्वारा उत्पादों का वर्णन किया है| कवि को पहाड़ किसी किसान की तरह लगता है , जो की आकाश का साफा बांधकर बैठा है| वह सूरज की गर्मी को पी रहा है | पर्वत रूपी चादर किसान घुटनों के पास नदी चादर सी बह रही है | पास के प्लस के जंगलों को अंगीठी जल रही है| अन्धकार पूर्व दिशा में छा रहा है , वह सब इक्कठा हो रहे है , मानो भेड़ो का समूह हो|

345
Maus Jesko
For answers need to register.
143
cents
The time for answering the question is over
Contacts
mail@expertinstudy.com
Feedback
Expert in study
About us
For new users
For new experts
Terms and Conditions