alarm
Ask a question for free
Hindi
Granizan

(ख) व्यंग्य स्पष्ट कीजिए:- जिसे तुम घृणित समझते हो उसकी तरफ हाथ कीनहीं, पैर की अंगुली से ईशारा करते हैं​

answers: 1
Register to add an answer
Answer:

उत्तर: अक्सर जब हम किसी को नीचा दिखाना चाहते हैं तो उसे ठेंगा दिखाते हैं, यानि हाथ का अँगूठा दिखाते हैं। लेखक को लगता है कि प्रेमचंद इस सबसे ऊपर उठ चुके हैं, इसलिए वे पाँव की अँगुली से लोगों की कमजोरियों की ओर इशारा करते हैं।

hope it helps you

499
Shadowbrand
For answers need to register.
Contacts
mail@expertinstudy.com
Feedback
Expert in study
About us
For new users
For new experts
Terms and Conditions